देहरादून : नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदेश ने सरकार पर हमला बोला। कहा कि  सरकार को एक साल होने को आए, लेकिन सरकार वित्तीय प्रबंधन में फेल साबित हो रही है। कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल रहा है, जबकि साढ़े 12 फीसद पर कर्ज लिया जा रहा है।

कहा न विकास के लिए पैसा है और न वेतन के लिए। स्‍कूलों में शिक्षक पूरे नहीं है। स्कूल बंद करने की बात से अनिश्चितता का माहौल है। कहा कि सरकार ने रोजगार का वायदा भी पूरा नहीं किया। राजधानी को लेकर भी सरकार कोई स्पष्ट जबाब नहीं देती है।

गैरसैंण मुद्दे पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि गैरसैंण में एक भी ईंट नहीं लगाई गई है। सदन में किसानों व व्यापारियों की आत्महत्या का मसला उठाएंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा सदन में सरकार को घेरेंगे। चारधाम के कपाट खुलने जा रहे हैं। आपदा के बाद तत्कालीन सरकार ने 8000 करोड़ रुपये स्वीकृत किये थे, लेकिन 2000 करोड़ रुपये ही खर्च हुए। पीएम ने केदारनाथ में हमारी सरकार द्वारा कराये जा रहे कार्यों का ही शिलान्यास किया है। कहा, प्रधानमंत्री बाकी राशि तत्काल राज्य को दे दें। पूरी सरकार का ध्यान सहयोग निधि को एकत्र करने में है। खनन माफिया से धन लिया गया है। कहा भाजपा सहयोग निधि की जांच कराए, आखिर कहां से आया 35 करोड़ रुपये। उप नेता प्रतिपक्ष करण महारा ने कहा सरकार को भ्रष्‍टाचार के मसले पर घेरेंगी। एनएच 74 के मामले में खासतौर पर बड़े लोगो को बचाने की कोशिश हो रही।

loading...

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि कानून व्‍यवस्‍था ठप है। लोगों की एफआइआर दर्ज नहीं हो रही है। सरकार एनएच 74 की जांच घुमा रही है। सूखे के हालात हो रहे है और सरकार ने कोई कार्य योजन नही बनाई।

loading...