गोरखपुर । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अपने गोरखपुर प्रवास के दौरान दिनचर्या के बाद करीब 150 लोगों की फरियाद सुनी। इसके बाद महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद संस्थापक समारोह के उद्घाटन पर गोरखनाथ मंदिर से रथयात्रा को रवाना करने को अखंड ज्योति जलाने की औपचारिकता निभाई।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुबह गोरखनाथ मंदिर  में 150 से अधिक फरियादियों से मुलाकात की और उनकी समस्याएं सुनीं। इस दौरान वह अधिकारियों को फरियादियों की समस्याओं का जल्द से जल्द निस्तारण करने के लिए निर्देश भी देते रहे। इससे पहले मुख्यमंत्री की सुबह की दिनचर्या परंपरागत रही।

आवास से निकलने के बाद वह सबसे पहले गुरु गोरखनाथ के मंदिर में गए। वहां उनकी पूरे विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की। इसके बाद गुरु अवेद्यनाथ का आशीर्वाद लेने के बाद उन्होंने करीब आधा घंटा गौशाला में गुजारा और फिर फरियादियों के बीच पहुंच गए। करीब एक घंटे समस्याओं को सुनने का सिलसिला चला।

loading...

फरियादियों से मिलने के बाद मुख्यमंत्री ने महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद संस्थापक सप्ताह समारोह के उद्घाटन समारोह में निकलने वाली शोभायात्रा के लिए मंदिर परिसर से अखंड ज्योति को पूरे विधि विधान के साथ पूजा अर्चना कर महा प्रताप इंटर कॉलेज के लिए रवाना किया।

इंटर कॉलेज में समारोह के उद्घाटन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा बतौर मुख्य अतिथि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद रहेंगे। शोभायात्रा महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज से निकलकर कचहरी चौराहा, बैंक रोड, गणेश चौराहा होते हुए वापस इंटर कॉलेज पहुंचकर समाप्त होगी। शोभायात्रा दोनों मुख्यमंत्रियों के संबोधन के बाद उन्हें सलामी देते हुए निकलेगी।

News Source: jagran.com

loading...