नई दिल्ली । वित्त वर्ष 2016-17 में घरेलू बैंकिंग सेक्टर में कुल 12553 फ्रॉड के मामले सामने आए हैं। इन फ्रॉड की कुल कीमत 18170 करोड़ रुपये है। सबसे ज्यादा फ्रॉड के मामले बैंक ऑफ महाराष्ट्र में रिपोर्ट किये गये हैं। यह जानकारी प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म इंस्टिट्यूशनल इनवेस्टर एडवाइजरी सर्विसेज (आईआईएएस) की रिपोर्ट में सामने आई है।

रिपोर्ट में सामने आया है कि फ्रॉड के मामले में बीते वित्त वर्ष में पहले स्थान पर बैंक ऑफ महाराष्ट्र है जिसमे 3893 फ्रॉड मामले, दूसरे पर निजी क्षेत्र का बैंक आईसीआईसीआई बैंक है जिसमें कुल 3359 मामले और तीसरे स्थान पर एचडीएफसी बैंक है जिसमें 2319 फ्रॉड के मामले रिपोर्ट किये गये हैं।

मूल्य के मामले में पंजाब नेशनल बैंक में सबसे ज्यादा राशि का फ्रॉड हुआ है। बीते वित्त वर्ष में पीएनबी में 2810 करोड़ रुपये का फ्रॉड हुआ है, इसके बाद अगल स्थान पर बैंक ऑफ इंडिया है जिसमें 2770 करोड़ रुपये का फ्रॉड, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में 2420 करोड़ रुपये का और बैंक ऑफ महाराष्ट्र में 2041 करोड़ रुपये का फ्रॉड हुआ है।

यह रिपोर्ट ऐसे समय में सामने आई है जब देश के बैंकिंग क्षेत्र के जुड़े घोटालों की खबरें आ रही हैं। आईआईएएस ने अपनी रिपोर्ट में कहा, “2016-17 में भारतीय बैंकिंग क्षेत्र में कुल 12553 फ्रॉड हुए हैं जिनका मूल्य 181.7 बिलियन (18170 करोड़ रुपये) है।”

loading...
loading...