लखनऊ। आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर का अयोध्या मसले को लेकर अभियान का पड़ाव आज एक बार फिर लखनऊ में था। आज लखनऊ में उन्होंने मौलाना फरंगी महली से भेंट की। इस्लामिक सेंटर में उनसे करीब आधा घंटा की भेंट के बाद श्रीश्री रविशंकर लखनऊ से नई दिल्ली लौट गए।

ऐशबाग ईदगाह लखनऊ के ईमाम मौलाना फरंगी महली से श्रीश्री रविशंकर ने करीब आधा घंटा वार्ता की। रविशंकर ने ऐशबाग ईदगाह के फरंगी महली से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद श्रीश्री रविशंकर ने कहा कि अयोध्या के राम मंदिर मसले में जल्दबाजी से हल नहीं निकलेगा। हम कोई एजेंडा लेकर नहीं चल रहे हैं, थोड़ा वक्त लगेगा।

अयोध्या मामले में जल्दबाजी से हल नही निकलेगा, इसके बाद भी हमारा प्रयास जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि देश की शीर्ष कोर्ट का फैसला हम मानते हैं लेकिन जो हम लोग दिल से फैसला लेंगे उसकी अलग बात होगी। हम चाहते हैं राम मंदिर का यह मुद्दा हम लोग आपसे मुलाकात और बातचीत से हल कर लें।

loading...

मौलाना फंरगी महली ने कहा कि श्रीश्री यहां पर आए थे। हमने उनका स्वागत किया। हमसे उनकी राम मंदिर ही नहीं कई मुद्दों पर बात हुई। हम भी चाहते हैं कि राम मंदिर का मसला जल्द से जल्द हल हो जाये। हम चाहते हैं राम मंदिर का यह मुद्दा हम लोग आपसे मुलाकात और बातचीत से हल कर लें।

प्रदेश के अयोध्या में रामजन्मभूमि और बाबरी मस्जिद का मामला देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में दोनों पक्षों को आपसी सहमति से फैसला लेने की बात कही थी। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि, वो मध्यस्ता के लिए तैयार हैं।

श्रीश्री रविशंकर 15 नवम्बर को राजधानी लखनऊ पहुंचे थे, जहाँ उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। जिसके बाद श्री श्री रविशंकर अयोध्या के दौरे पर पहुंचे थे। जहां उन्होंने राम मंदिर और रामलला के पक्षकारों से मुलाकात की थी।

NEWS SOURCE :- www.jagran.com

 

 

loading...